शादी से पहले चुदाई

मेरी जॉब दिल्ली में लग गई थी मेरी कॉलेज की पढ़ाई होने के तुरंत बाद ही हमारे कॉलेज के कैंपस प्लेसमेंट में मेरा सिलेक्शन हो चुका था और उसके बाद मैं जॉब करने के लिए दिल्ली चला आया लेकिन मेरे पापा के कहने पर मैं दीदी के साथ ही दिल्ली में रहने लगा। मेरी दीदी की शादी भी दिल्ली में ही हुई थी और पापा चाहते थे कि मैं कुछ समय दीदी के पास ही रहूं, जीजा जी बैंक में नौकरी करते हैं और दीदी घर पर ज्यादा समय अकेले ही रहती थी। एक दिन मैं अपने ऑफिस से घर लौटा तो उस दिन दीदी मुझे कहने लगी कि दिलीप चलो आज हम लोग कहीं घूमने के लिए चलते हैं तुम्हारे जीजा जी भी बस थोड़ी देर बाद आते ही होंगे। मैंने दीदी से कहा कि दीदी क्यों ना आज हम लोग मूवी देखने के लिए जाएं और उस दिन हम लोग आउटिंग के लिए चले गए काफी समय बाद मैं भी कहीं बाहर गया था। जब मैं आया था तो फिर मैं अपनी जॉब में पूरी तरीके से व्यस्त हो चुका था और मुझे अपने लिए बिल्कुल भी समय नहीं मिल पा रहा था लेकिन उस दिन मेरे पास समय था मैं, जीजाजी और दीदी उस दिन मूवी देखने के लिए गए और हम लोग देर रात को घर लौटे।

जब हम लोग घर लौटे तो उस वक्त मैं काफी ज्यादा थक चुका था लेकिन काफी समय बाद मुझे अच्छा लगा था और मैं घर आते ही अपने रूम में जाकर सो गया। जीजा जी के माता पिता उनके बड़े भैया के साथ इंदौर में रहते हैं। अगले दिन मैं घर पर ही था तो मैं अपने दोस्त से मिलने के लिए चला गया मेरा कॉलेज का दोस्त निखिल भी दिल्ली में ही जॉब कर रहा था उसका भी कैंपस प्लेसमेंट में सिलेक्शन हुआ था। मैं निखिल से मिलने के लिए चला गया जब मैं उस दिन निखिल से मिलने के लिए गया तो वह मुझसे कहने लगा कि दिलीप तुम्हारी जॉब कैसी चल रही है? मैंने उसे बताया मेरी जॉब तो अच्छी चल रही है। निखिल काफी ज्यादा परेशान था निखिल मुझे कहने लगा कि दिलीप मैं कुछ दिनों के लिए घर जा रहा हूं। मैंने उससे पूछा कि लेकिन तुम घर क्यों जा रहे हो तो उसने मुझे बताया कि उसके घर में कुछ दिनों से पारिवारिक समस्या चल रही है जिस वजह से वह काफी ज्यादा परेशान है।

उसके चाचा जी और उसके पिताजी के बीच प्रॉपर्टी को लेकर विवाद था जिस वजह से निखिल भी काफी ज्यादा परेशान था। मैंने निखिल से कहा कि तुम्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है सब कुछ ठीक हो जाएगा। निखिल मुझे कहने लगा कि दिलीप तुम्हें पता है कि यह सब इतनी जल्दी ठीक नहीं होने वाला इसलिए मुझे कुछ दिनों के लिए घर जाना पड़ेगा और निखिल कुछ दिनों के लिए घर चला गया था। हमारे ऑफिस में एक नई लड़की जॉब करने के लिए आई उसका नाम मोनिका है मोनिका के साथ धीरे धीरे मेरी दोस्ती होने लगी थी और हम दोनों एक दूसरे से बातें करने लगे थे। हम दोनों की बातें बढ़ने लगी थी और मोनिका मेरे बहुत करीब आने लगी थी मोनिका हर रोज मेरे लिए घर से टिफिन लेकर आती थी। मुझे नहीं पता था कि मोनिका के दिल में मेरे लिए क्या चल रहा है शायद वह मुझसे प्यार करने लगी थी लेकिन मैंने मोनिका के बारे में कभी ऐसा कुछ सोचा नहीं था। एक दिन मोनिका ने मुझे कहा कि दिलीप मैं तुमसे प्यार करती हूं और मैं तुम्हारे साथ जीवन बिताना चाहती हूं लेकिन मैंने मोनिका को कहा कि मोनिका मुझे कुछ समय सोचने के लिए चाहिए मैं तुम्हें झूठा वादा नहीं कर सकता। मोनिका ने कहा कि ठीक है जैसा तुम्हें लगता है मोनिका ने मुझ पर ही सब छोड़ दिया था लेकिन उसके बाद भी मैं मोनिका से पहले की तरह ही बातें किया करता हम दोनों के बीच अभी भी बहुत अच्छी दोस्ती थी। मोनिका का बर्थडे भी नजदीक आने वाला था इसलिए मैंने उसके जन्मदिन के लिए गिफ्ट ले लिया था। मैंने उसके बर्थडे में उसे गिफ्ट दिया तो वह बहुत खुश थी मोनिका मुझसे प्यार करती थी यह बात तो मुझे पता थी लेकिन अब मैं भी मोनिका के नजदीक जाने लगा था और हम दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे। मैं अभी भी अपनी दीदी के साथ ही रहता था और एक दिन मैंने दीदी को इस बारे में बता दिया। मैंने दीदी से कहा कि मैं मोनिका से आपको मिलवाना चाहता हूं।

More sexy stories  कुंवारी लड़की की गुलाबी चुत

मैंने मोनिका को दीदी से मिलवाया तो दीदी मोनिका से मिलकर काफी खुश थी दीदी कहने लगी कि मोनिका बहुत ही अच्छी लड़की है और दीदी को मोनिका काफी पसंद आई थी। मैंने दीदी से कह दिया था कि हम लोग शादी करना चाहते हैं तो दीदी ने मुझे कहा कि दिलीप अगर तुम मोनिका के साथ शादी करना चाहते हो तो मुझे नहीं लगता किसी को भी कोई दिक्कत होगी। पापा और मम्मी तो इस बात के लिए मुझे कभी मना नहीं करने वाले थे मुझे यह बात बहुत अच्छे से पता थी। मैंने मोनिका से कहा कि क्या तुम्हारे परिवार वाले हम दोनों के रिश्ते को स्वीकार कर लेंगे तो मोनिका कहने लगी कि हां। मोनिका ने उसके कुछ दिनों बाद ही मुझे अपने पापा मम्मी से मिलवाया उन्होंने मुझे कहा कि बेटा मोनिका हमारी एकलौती लड़की है और हमने आज तक उसे कभी भी किसी चीज की कोई कमी महसूस नहीं होने दी हम चाहते हैं कि तुम उसका पूरा ध्यान दो। मैंने उन्हें कहा कि मैं मोनिका का पूरा ध्यान रखूंगा। हम लोगों की अब जल्दी सगाई होने वाली थी और मैं इस बात से काफी खुश था मोनिका मेरा बहुत ध्यान रखा करती। हम लोगों ने सगाई दिल्ली में ही करवाने का फैसला किया और दिल्ली में ही हम दोनों की सगाई हुई सब लोग हम दोनों की सगाई से काफी ज्यादा खुश थे।

एक दिन बारिश हो रही थी उस दिन मोनिका और मैं काफी ज्यादा भीग चुके थे। मैंने मोनिका से कहा तुम मेरे साथ घर पर चलो तो मोनिका कहने लगी नहीं मैं घर जा रही हूं। मैंने उसे कहा मोनिका तुम मेरे साथ आ जाओ तो वह भी मेरे साथ आ गई। उस दिन दीदी घर पर नहीं थी दीदी को जब मैंने फोन किया तो उन्होंने बताया कि वह थोड़ी देर बाद आएंगी क्योंकि अभी बारिश हो रही थी दीदी पड़ोस में ही कहीं गई हुई थी। मैंने मोनिका को तोलिया दिया उसने अपने बालो को पोछा उसका बदन भ भीग चुका था उसके स्तनों के ऊभार साफ दिखाई देने लगे थे जिसे देख मेरा लंड तन कर खड़ा होने लगा मैंने उसे कहा तुम कपड़े चेंज कर लो लेकिन वह कहने लगी नहीं दिलीप रहने दो। मैंने मोनिका के होठों को किस कर लिया वह भी अपने आप को रोक ना सकी और मैंने उसे अपनी बाहों में समा लिया। मैंने जब उसे अपनी बाहों में लिया तो मुझे मजा आने लगा और वह भी पूरी तरीके से उत्तेजित होने लगी थी मैंने उसे कहा लेकिन मुझे तो आज तुम्हें चोदना है। वह कहने लगी यह सब तुम शादी की बाद कर लेना। मैंने उसे कहा नहीं मेरा आज ही मन है और मैं आज तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूं वह भी अपने आपको रोक नहीं पा रही थी मैंने उसके होंठों को चूमना शुरू कर दिया था मैंने अपनी जीभ उसके मुंह के अंदर डाली तो वह बड़े अच्छे से मुझे किस कर रही थी। अब हम दोनों के बदन की गर्मी इस कदर बढ़ चुकी थी कि उसे रोक पाना बहुत ही मुश्किल था मैंने जब अपने लंड को बाहर निकाला तो मोनिका मेरे लंड को देखते ही घबरा गई और कहने लगी तुम्हारा कितना मोटा लंड है। मैंने उसे कहा तुम इसे अपने मुंह में ले लो पहले तो वह मना कर रही थी लेकिन मैंने उसे कहा तुम्हें शादी के बाद भी तो मेरे लंड को अपने मुंह में लेना होगा। मोनिका को भी अब लगा कि उसे लंड को मुंह में लेना चाहिए उसने अपने हाथों में मेरे लंड को हिलाया वह उसे बड़े प्यार से हिलाने लगी लेकिन वह लंड को कुछ ज्यादा ही तेजी से हिलाने लगी थी। जैसे ही उसने अपनी जीभ का स्पर्श लंड पर किया उसके अंदर की गर्मी पूरी तरीके से बढ़ चुकी थी और अब उसे अपने आपको रोक पाना बहुत ही मुश्किल था।

More sexy stories  मोहनी के हुस्न का जलवा

मैंने उसके मुंह के अंदर अपने लंड को डाल दिया था वह बड़े ही अच्छे से उसे सकिंग कर रही थी जब वह ऐसा कर रही थी तो मुझे और भी ज्यादा मजा आ रहा था और उसने काफी देर तक मेरे लंड का रसपान किया। मै उसको चोदना चाहता था मैंने उसकी मुलायम चूत पर अपनी जीभ को लगाकर बहुत देर तक उसकी चूत का रसपान किया और उसे पूरी तरीके से संतुष्ट कर दिया था। मैं उसकी चूत के अंदर अपने लंड को डालने लगा और उसकी चूत के अंदर मेरा लंड जाते ही उसकी योनि से खून निकल आया था और वह मुझे कहने लगी मुझे बड़ा दर्द हो रहा है। मैंने उसे कहा मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है मैं उसके दोनों पैर खोलकर उसे बड़ी तेजी से चोदने लगा था।

मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर लिया था जिससे कि उसकी चूत के अंदर बाहर मेरा लंड बड़ी तेजी से हो रहा था अब मैंने उसे घोड़ी बना दिया घोडी बनाने के बाद जब मैं उसे चोदने लगा तो उसकी चूत से खून निकलने लगा था मोनिका मुझे कहने लगी मुझे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है मैंने मोनिका से कहा मोनिका तुम्हारी चूत मारकर आज मेरे इच्छा पूरी हो गई वैसे भी तो शादी के बाद यह सब होने ही वाला था। मैंने उसे कहा लेकिन शादी से पहले ही यह सब हो गया तो क्या तुम्हें मजा नहीं आया। वह कुछ नहीं बोली वह मुझसे अब और तेजी से अपनी चूतडो को मिलाने लगी जब वह ऐसा करती तो मेरे अंदर की गर्मी और भी ज्यादा बढ़ जाती और मैं उसे बड़ी तीव्र गति से चोदने लगा। उसकी चूत के अंदर मेरा माल जल्दी से गिर गया और मैंने उसे कहा तुम्हारी इच्छा पूरी हो चुकी है तो वह कहने लगी हां मेरी इच्छा पूरी हो चुकी है वह पूरी तरीके से संतुष्ट हो चुकी थी। उसके बाद हम दोनों साथ में बैठे रहे और दीदी थोड़ी देर बाद ही आ गई थी।

More sexy stories  गर्लफ्रेंड को पत्नी बना कर चोदा