गांड मार ही ली भाभी की

मैंने अपनी कॉलेज की पढ़ाई पटना से पूरी की और पढ़ाई पूरी करने के तुरंत बाद ही मैं सरकारी विभाग में नौकरी लग गया मेरे लिए यह बहुत ही खुशी की बात थी और मेरे माता-पिता भी इस बात से बहुत खुश थे। कुछ समय तक तो मैं पटना में ही था करीब दो साल हो जाने के बाद एक दिन मेरा ट्रांसफर कोलकाता हो गया। मैंने जब यह बात अपने माता पिता को बताई तो वह लोग इस बात से थोड़ा चिंतित जरूर हो गए थे क्योंकि मैं घर में इकलौता हूं और कहीं ना कहीं इस बात से मेरे माता-पिता दुखी भी थे लेकिन मुझे अपनी नौकरी के लिए कोलकाता तो जाना ही था। मेरे लिए कोलकाता जाना बिल्कुल नया था क्योंकि मैं आज से पहले कभी भी कोलकाता नहीं गया था और मैं अब अपना सामान पैक करने लगा। मेरी मां कहने लगी कि बेटा तुम तो कोलकाता में किसी को जानते भी नहीं हो और शुरुआती दिनों में तुम वहां पर कहां रुकोगे।

मैंने अपनी मां को कहा मां मैं देख लूंगा आप उसकी चिंता मत करो लेकिन फिलहाल तो मुझे कोलकाता जाना था इसमे मां ने मेरी मदद की उन्होंने मेरा सामान पैक कर दिया था। मैंने भी अपनी ट्रेन की रिजर्वेशन करवा ली थी मेरे पास सामान काफी ज्यादा था इसलिए जब मैं रेलवे स्टेशन गया तो मैंने एक कुली से कहा कि तुम मेरा सामान ट्रेन तक छोड़ देना उसने कहा ठीक है साहब। पैसों को लेकर मुझे थोड़ा बहुत मोल भाव उसके साथ करना पड़ा और फिर उसने मेरा सामान ट्रेन में रख दिया था। मैं ट्रेन में बैठ चुका था और मैं यही सोच रहा था कि जब मैं कोलकाता जाऊंगा तो मेरे लिए सब कुछ नया होगा। करीब आधे घंटे के बाद ट्रेन के चलने का समय होने लगा और ट्रेन चल पड़ी मैं सारे रास्ते भर यही सोचता रहा और अपने माता-पिता से पहली बार ही मैं अलग रहने के लिए जा रहा था इसीलिए मुझे लग रहा था कि मैं अकेले कोलकाता में कैसे रहूंगा। जब मैं कोलकाता पहुंचा तो वहां पर मैंने फिलहाल तो एक होटल में अपने लिए कमरा ले लिया मैं जिस होटल में था उसी के आसपास मैंने घर देखना शुरू किया क्योंकि मुझे अपना ऑफिस दो दिन बाद ज्वाइन करना था इसीलिए मैं आसपास अपने लिए घर तलाशने लगा।

पहला दिन तो मेरा कुछ ठीक नहीं रहा और मुझे घर नहीं मिला होटल में ही काम करने वाले कर्मचारी से मैंने कहा कि भैया तुम मेरी मदद कर दो तो वह कहने लगा कि साहब लेकिन आपको क्या मदद चाहिए। मैंने उसे बताया कि मुझे एक घर चाहिए था तो वह कहने लगा कि मेरे एक परिचित है मैं उनसे बात कर सकता हूं मैंने उसे कहा ठीक है यदि तुम उनसे बात करवा दो तो बड़ी मेहरबानी होगी। उसने मेरी उनसे बात करवा दी मेरी उनसे बात हुई तो वह मेरे बारे में काफी कुछ पूछ रहे थे मैंने उन्हें सब कुछ अपने बारे में बता दिया था। मैंने अपना सामान लेकर उनके घर पर पहुंच गया था मुझे घर मिल चुका था मैंने अपनी मां से फोन पर बात की और कहा कि मां मुझे घर मिल चुका है तो वह लोग कहने लगे कि बेटा तुम अपना ख्याल रखना। थोड़ी देर मैंने अपने पापा से भी बात की जब पहले दिन मैं अपने ऑफिस में गया तो उस दिन ऑफिस में मेरा सब लोगों से परिचय हुआ। मुझे अब काम करते हुए करीब एक महीना हो चुका था और सब लोगों से मेरा अच्छा परिचय हो चुका था। एक दिन हमारे मकान मालिक जिनका नाम रमेश है वह मेरे पास आए और कहने लगे कि आकाश जी क्या आप अभी घर पर ही हैं मैंने उन्हें कहा रमेश जी कहिए ना। वह मुझे कहने लगे कि क्या आप मुझे रेलवे स्टेशन तक छोड़ देंगे मैंने उन्हें कहा हां क्यों नहीं। मैंने रमेश जी से कहा कि क्या आप कहीं जा रहे हैं तो वह मुझे कहने लगे कि मैं कुछ दिनों के लिए अपने मैं काम के सिलसिले में जा रहा हूं। मैंने उन्हें कहा ठीक है मैं आपको छोड़ देता हूं उन्होंने मुझे अपने मोटरसाइकिल की चाबी दी और मैं उन्हें रेलवे स्टेशन तक छोड़ने चला गया उसके बाद मैंने उन्हें रेलवे स्टेशन तक छोड़ दिया था उनकी ट्रेन अभी तक नहीं आई थी रमेश जी मुझे कहने लगे कि अब आप घर चले जाइए मैं ट्रेन का इंतजार कर लूंगा। मैंने उन्हें कहा ठीक है और मैं वापस घर लौट आया था जब मैं घर वापस लौटा तो उस दिन मैं घर पर ही रहने वाला था इसलिए मैंने सोचा कि कमरे की साफ सफाई में कर देता हूं और मैं अपने कमरे की साफ सफाई करने लगा। मैं जब अपने कमरे की साफ सफाई कर रहा था तो उसी वक्त मेरे ऑफिस में काम करने वाले दोस्त का फोन आया और वह मुझे कहने लगा कि आकाश आज तुम शाम के वक्त मेरे घर पर डिनर के लिए आ रहे हो।

More sexy stories  रानी मेरे दोस्त की सेक्सी पत्नी-2

मैंने उसे कहा लेकिन तुमने आज अचानक से यह प्लान कैसे बना लिया तो वह मुझे कहने लगा कि आज मेरी शादी की सालगिरह है तो मैंने सोचा कि तुम्हें भी मैं फोन कर लेता हूं। उसकी शादी को एक वर्ष ही हुआ था और उसने हमारे ऑफिस से कुछ लोगों को घर पर डिनर के लिए इनवाइट किया था मैंने भी सोचा कि मैं अपने दोस्त के घर चला जाता हूं। मैं अपनी साफ-सफाई का काम पूरा कर चुका था और दोपहर के वक्त मैं अपने लिए खाना बना रहा था थोड़ी देर बाद खाना तैयार हो चुका था उसके बाद मैं खाना खा कर कुछ देर आराम करने लगा। मुझे अब गहरी नींद आ चुकी थी और मैं कुछ देर के लिए सो चुका था मैं जब उठा तो मैंने देखा उस वक्त 5:00 बज रहे थे मैं बाथरूम में गया और नहा धो कर मैं बाथरूम से बाहर निकला तो मैंने सोचा मैं बाहर से कुछ देर टहल आता हूं। मैं बाहर टहलने के लिए चला गया क्योंकि मौसम भी अच्छा था और मैं बाहर चला गया काफी देर बाद मैं वापस लौटा मैं घर के पास की एक पार्क में टहलने के लिए चला गया था और मुझे पता ही नहीं चला कि कब शाम के 7:00 बज चुके है।

मैंने सोचा कि अब मुझे अपने दोस्त के घर चले जाना चाहिए और मैं थोड़ी ही देर बाद अपने दोस्त के घर पर चला गया। उसके घर पर मैंने डिनर किया और मुझे काफी अच्छा भी लगा उसके परिवार वालों से मिलकर मुझे बहुत अच्छा लगा फिर मैं रात के वक्त घर लौट आया था। मैं जब घर लौटा तो हमारी मकान मालकिन भाभी ने दरवाजा खोला और जब उन्होने दरवाजा खोला तो वह मुझे कहने लगी आज आप बड़ी देर से आ रहे हैं मैंने उन्हें कहा मै अपने किसी दोस्त के घर चला गया था इसलिए आने में देर हो गई। उन्होंने उस दिन लाल रंग की नाइटी पहनी हुई थी और उसमें उनके स्तन बाहर की तरफ को दिखाई दे रहे थे मेरी नजर उनके स्तनों पर ही पड रही थी और वह भी मेरी तरफ देख रही थी। मैंने उनसे कहा आप अभी तक सोई नहीं थी? वह कहने लगी बस ऐसे ही मुझे नींद नहीं आ रही थी उन्होंने मुझे कहा आइए ना थोड़ी देर मेरे साथ बैठिए। मैंने भी सोचा कि उनके साथ बैठ जाता हूं इसी बहाने उनके बड़े स्तनों को देखने का मौका भी मिल जाएगा। मैं उन्हीं के साथ कुछ देर तक बैठ गया मैं उनके साथ बैठा हुआ था और मैं उनसे बात कर रहा था मेरी नजर उनके स्तनों पर थी भाभी का नाम सुमोना है सुमन भाभी बड़े ही सेक्सी लग रही थी मैंने उनकी सुंदरता की तारीफ की तो वह बहुत खुश हो गई और मुझे ऐसा लगा जैसे वह मुझसे अपनी चूत मरवाने के लिए बड़ी बेताब बैठी हुई हैं। मेरे लिए यह बड़ा ही अच्छा मौका था क्योंकि वह घर पर उस वक्त अकेली थी मैं भी उनके पास आकर बैठा तो मैंने उनकी जांघ को सहलाना शुरू कर दिया। मुझे नहीं पता था कि उनके अंदर क्या चल रहा है लेकिन जब मैं उनकी जांघ को सहला रहा था तो वह भी अपने आपको रोक ना सकी और वह कहने लगी आप मेरे होठों को चूम लो।

More sexy stories  साली का भीगा बदन

मैंने उनके होंठों को चूम लिया जब मैं उनके होठों को किस कर रहा था तो मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा था मैंने उनके होंठों का रसपान बहुत देर तक किया फिर मैंने उनकी चूत को चाटना शुरू किया मैंने उनकी नाइटी उतार दी थी और उनकी चूत को चाट कर मैं बहुत खुश था उनके स्तनों को भी मैंने बहुत देर तक अपने मुंह में लेकर चूसा उनके स्तनों से दूध बाहर निकाल दिया था। वह कहने लगी मैं आपके मोटे लंड को अपने मुंह में लेना चाहती हूं। जब उन्होंने मेरे मोटे लंड को अपने मुंह के अंदर लिया तो मैंने उन्हें कहा मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है आप ऐसे ही मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर बाहर करती। उन्होंने बहुत देर तक मेरे लंड को अपने मुंह मे लिया फिर मैंने उनके स्तनों के बीच मे लंड को रगडना शुरू किया। मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा था जैसे कि मेरा वीर्य बाहर की तरफ को गिरने वाला है मैंने उनके स्तनों पर वीर्य गिरा दिया।

वह कहने लगी आपका वीर्य जल्दी गिर गया मैंने उनको कहा आप है ही इतनी कमाल की मैंने उनकी चूत पर अपने लंड को रगड़ना शुरू किया और मैंने अपने लंड को उनकी चूत मे घुसा दिया। मैंने उनके दोनों पैरों को खोल लिया था और जब मैं उन्हें तेजी से धक्के मार रहा था तो वह मुझे कहने लगी मुझे बहुत ही अच्छा लग रहा है। मैं उन्हें बड़ी तेज गति से धक्के मार रहा था मेरे अंदर की गर्मी को मै बिल्कुल भी रोक ना सका। मैं अपने लंड को उनकी चूत के अंदर बाहर बड़ी तेजी से करता रहा वह भी इस बात से बहुत ज्यादा खुश हो चुकी थी और मुझे कहने लगी मुझे आपसे अपनी चूत मरवाकर बहुत मजा आ रहा है। मैंने उनको बहुत देर तक चोदा मैंने उनकी चूतडो की तरफ देखा तो मैंने उन्हें घोडी बनाते हुए उनकी मोटी गांड के अंदर अपने लंड को घुसाने का प्रयास किया लेकिन उनकी गांड मे मेरा लंड नही गया। जिस वजह से मैंने अपने लंड को उनकी चूत के अंदर घुसाया और उन्हें बड़ी ही तेज गति से चोदना शुरू किया। मैंने उनके साथ करीब 5 मिनट तक सेक्स संबंध बनाए और उसके बाद मेरा वीर्य गिर चुका था हालांकि उस दिन मै उनकी गांड के मजे तो ना ले सका लेकिन उसके बाद मैंने उनके साथ एनल सेक्स भी किया। सुमोना भाभी बड़ी खुश थी कि मैंने उनके साथ सेक्स किया उस रात हम दोनों साथ मे सोए थे।

More sexy stories  मेरी सेक्सी गर्लफ्रेंड को रिंग देके चूत चुदाई की